Tuesday, May 03, 2016 | होम | सम्पर्क करें | आपके सुझाव| हिन्दी मैग्जीन |
Bookmark and Share
समाचार
राष्ट्रीय
अन्तरराष्ट्रीय
सम्पादकीय
राजनीति
कारोबार
अपराध
खेल खिलाडी
मनोरंजन
साक्षात्कार
राज्य
मध्यप्रदेश
छत्तीसगढ
उत्तर प्रदेश
राजस्थान
गुजरात
दिल्ली
हरियाणा
बिहार
महाराष्ट्र
फोटो गैलेरी
Photo Gallery
अन्य
बॉलीवुड
शिक्षा
स्वास्थ्य
समाज
बाजार
ज्योतिष
धर्मं
महिला
युवा
बाल जगत
विशेष
जन आवाज
जानिये अपने विधायक को
जानिये अपने सांसद को
आरकाइव
एडमिन
ई - मेल
शिक्षा को सस्ता बनाने क्या निजी विद्यालयों पर अंकुश जरूरी है?
Yes   : 65 %
No     : 26 %
Can't : 9 %
Are you satisfied with your intranet system ?
उत्तराखंड बागी विधायकों का मामला

नैनीताल। कांग्रेस के नौ बागी विधायकों जिनमें पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, हरक सिंह रावत, शैलारानी रावत, शैलेंद्र मोहन सिंघल, कुंवर प्रणव चैंपियन, अमृता रावत, सुबोध उनियाल,उमेश शर्मा काऊ, प्रदीप बत्रा की सदस्यता समाप्त  करने के मामले में न्यायमूर्ति यूसी ध्यानी  की एकलपीठ के समक्ष आज सुनवाई चल रही है। बीती 23 अप्रैल को उत्‍तराखंड विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल की तरह से कपिल सिब्बल ने अपना पक्ष रखा था। याचिकाकर्ता बागी विधायकों की ओर से पक्ष आज रखा जाएगा। इस मामले में आज ही फैसला आने की संभावना है।
  More...

संसद की शुरुआत हंगामेदार

नई दिल्ली।आज संसद की शुरुआत हंगामेदार रही। संसद के दोनों ही सदनों में उत्तराखंड के मुद्दे पर कांग्रेस ने जमकर हंगामा मचाया। इस मुद्दे पर बहस की मांग कर रही कांग्रेस के सांसद पहले तो स्पीकर के सामने ही धरने पर बैठ गए और फिर बाद में सरकार विरोधी नारेबाजी और हंगामा करने लगे। इस बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पूरे मामले को लेकर सरकार का पल्ला  झाड़ते हुए कहा कि उत्तराखंड मसले से हमारा कोई संबंध नहीं है, वहां जो हुआ है वो कांग्रेस के अंदरुनी विवाद की वजह से है।
वहीं मुद्दे को लेकर भड़के हुए कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि केंद्र सरकार गैर भाजपा शासित राज्यों को अस्थिर करने में लगा है और यह गलत है।  उत्तराखंड मुद्दे के विचाराधीन होने पर उन्होनें  कहा कि विचाराधीन होने से क्या मतलब है, इशरत ज  More...

सिंहस्थ महाकुंभ का आकर्षण - किन्नर अखाड़ा

 महाकाल की नगरी  उज्जैन हमेशा आकर्षण का केँद्र रही है। इस समय  मध्य प्रदेश के उज्जैन में चल रहे सिंहस्थ महाकुंभ में सबसे बड़ा आकर्षण का केंद्र है देश का पहला  किन्नर अखाड़ा। हालांकि अभी तक अखाड़ा परिषद ने इसे मान्यता नहीं दी है। सिंहस्थ मेला क्षेत्र में भले ही किन्नरों को लगभग मेला क्षेत्र के आखिरी कोने में कैंप के लिए जगह मिली है लोग किन्नर संतों को देखने के लिए यहां तक भी आ रहे हैं। शैव और वैष्णव अखाड़ों की तरह ही किन्नरों ने भी अपने अखाड़े के कुछ नियम तय किए हैं, जिनको मानने वाला ही इस अखाड़े में शामिल हो पाएगा।किन्नर अखाड़े की महाराष्ट्र पीठाधीश्वर पायल गुरु का कहना है अखाड़ा सिर्फ इसलिए नहीं बनाया गया है कि हम धर्म के क्षेत्र में कोई दखल चाहते हैं, दरअसल इस अखाड़े का मकसद है किन्नरों की छवि को बदलना। शादी और जन्म के मौके पर जो किन्न  More...

अफसर के बाथरूम से निकलते हैं लाखों के जेवर एवं नगदी

 रायपुर। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने शनिवार को प्रदेश के सात जिलों में नौ अफसरों के 14 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे। आय से अधिक संपत्ति के मामले में एसीबी की  More...

अलीराजपुर जिले को 582 करोड़ की सिंचाई परियोजना स्वीकृत

भोपाल :सिंचाई सुविधाओं के अभाव से जूझते अलीराजपुर जिले को  582 करोड़ की सिंचाई परियोजना स्वीकृत की गई है। इस परियोजना का भूमि पूजन मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह  More...

टाटा मोटर्स का मुनाफा घटा

मुंबई। भारत की प्रमुख ऑटोमोबाइल कंपनी टाटा मोटर्स का मुनाफा 30 जून को समाप्त पहली तिमाही के दौरान 48.7 प्रतिशत घटकर 2,768.91 करोड़ रुपये रहा। ऐसा मुख्य तौर पर जगुआ  More...

सोनिया का सरकार पर जोरदार हमला - देश के कई हिस्‍सों में प्रदर्शन

नई दिल्ली।(पब्लिक प्वाइंट व्यूरों ) कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी मंगलवार को अलग ही तेवरों में दिखाई दीं।   More...

एक्सक्लुसिव

अरुण द्विवेदी

 भोपाल। मंत्रालय -  हर तरफ पसरा सन्नाटा कुत्तों के भौंकने की आवाज तो सन्नाटे को तोड़ रही थी, लेकिन पुलिस के पदचाप और सीटी का कोई स्वर रात के इस अंधेरे में नहीं था। यह सोचते हुए पराक्रमी और न्यायप्रिय राजा विक्रमादित्य हाथ में तलवार लिए अपने कदमों को मंत्रालय  की ओर बढ़ाए हुए थे। वे एक बार फिर मंत्रालय स्थित ताड़वृक्ष के नीचे पहुंचे और ऊपर पेड़ पर लटके बेताल को उतारने का प्रयास कर

प्रमुख खबरे
फ्लैट में होनेवाली देरी पर 12 फीसद हर्जाना
पेट्रोल और डीजल सस्ते हो सकते हैं
कोहली की अगुआई में ढाका पहुंची टीम इंडिया
अब कब लहरायेगा प्रदेश का सबसे ऊंचा व बड़ा राष्ट्रध्वज
Hindi e-Paper
PUBLI CPOINT
PUBLICPOINT
More e-Papers ...
Important Links
You can Advertisment here
Bhopal Weather


Usage Statistics Generated by Webalizer Version 2.01

E-mail : contactus@publicpointnews.com, publicpointindia@gmail.com
Copyright © 2007-2015 Public Point News, All Rights Reserved.