Tuesday, November 21, 2017 | होम | सम्पर्क करें | आपके सुझाव| हिन्दी मैग्जीन |
Bookmark and Share
समाचार
राष्ट्रीय
अन्तरराष्ट्रीय
सम्पादकीय
राजनीति
कारोबार
अपराध
खेल खिलाडी
मनोरंजन
साक्षात्कार
राज्य
मध्यप्रदेश
छत्तीसगढ
उत्तर प्रदेश
राजस्थान
गुजरात
दिल्ली
हरियाणा
बिहार
महाराष्ट्र
फोटो गैलेरी
Photo Gallery
अन्य
बॉलीवुड
शिक्षा
स्वास्थ्य
समाज
बाजार
ज्योतिष
धर्मं
महिला
युवा
बाल जगत
विशेष
जन आवाज
जानिये अपने विधायक को
जानिये अपने सांसद को
आरकाइव
एडमिन
ई - मेल
शिक्षा को सस्ता बनाने क्या निजी विद्यालयों पर अंकुश जरूरी है?
Yes   : 65 %
No     : 26 %
Can't : 9 %
Are you satisfied with your intranet system ?
अफसर के बाथरूम से निकलते हैं लाखों के जेवर एवं नगदी

 

 रायपुर। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने शनिवार को प्रदेश के सात जिलों में नौ अफसरों के 14 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे। आय से अधिक संपत्ति के मामले में एसीबी की कार्रवाई की जद में रायपुर, बिलासपुर, रायगढ़, राजनांदगांव, अंबिकापुर, बैकुंठपुर और जांजगीर-चांपा के अफसर आए। जलसंसाधन विभाग के तीन, पीडब्ल्यूडी, शिक्षा विभाग, राजस्व, मार्कफेड, जिला पंचायत के एक-एक अधिकारी और एक रिटायर्ड खाद्य अधिकारी पर भी कार्रवाई में 50 करोड़ से ज्यादा की अवैध संपत्ति का खुलासा हुआ है।
राजधानी रायपुर में पदस्थ पटवारी मिथलेश पांडेय के पास से पांच करोड़ से ज्यादा की संपत्ति मिली है। रिटायर्ड खाद्य अधिकारी गुलाम मोहम्मद खान के पास से पत्नी और बेटी के नाम पर दो पेट्रोल पंप, बैकुंठपुर में जलसंसाधन विभाग के एसडीओ शांतिलाल गुप्ता के बाथरूम से 21 लाख रुपए नकद बरामद हुए। वहीं जिला परियोजना अधिकारी आनंद पांडेय का स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर में करोड़ों रुपए के निवेश का खुलासा हुआ है।
एंटी करप्शन ब्यूरो के मुताबिक 50 से ज्यादा अधिकारियों की टीम ने शनिवार सुबह 14 ठिकानों पर एक साथ कार्रवाई की। सिंचाई विभाग के एसडीओ शांतिलाल गुप्ता ने एसीबी की टीम के पहुंचने से पहले ही बाथरूप में एक थैले में 21 लाख रुपए छिपाकर रख दिए थे। कार्रवाई के दौरान परिवार के एक सदस्य ने कुछ गहने भी घर से बाहर फेंक दिए, जिसे एसीबी की टीम ने जब्त किया।
रायगढ़ में एसीबी की टीम जब कार्यपालन अभियंता फेबियन खेस के घर पहुंची तो उनके परिवार के सदस्यों ने दरवाजा ही नहीं खोला। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी एनके द्विवेदी छापे से पहले ही घर से बाहर चले गए थे। द्विवेदी पहले भी भ्रष्टाचार के मामले में फंस चुके हैं और उन पर विभागीय जांच चल रही है। बैकुंठपुर में पदस्थ उमाशंकर राम के अंबिकापुर स्थित आवास के अंदर एसीबी की टीम सुबह छह बजे ही गेट फांदकर दाखिल हुई। उस समय परिवार के सदस्य सो रहे थे।
इन अधिकारियों के ठिकानों पर पड़े छापे
गुलाम मोहम्मद खान, सेवानिवृत्त खाद्य अधिकारी (दिसंबर 2015 में सेवानिवृत्त)
पत्नी और बेटी के नाम पर दो पेट्रोल पंप
25 लाख की कीमत का एक तीन मंजिला मकान
21 लाख का बिलासपुर, साढ़े तीन लाख कीमत का बोपनी में प्लॉट
उमरिया में सात लाख और पिपरीनाका में दस लाख का प्लॉट, 17 लाख के दो मकान
उमरिया में कृषि भूमि, पत्नी के नाम पर डेढ़ एकड़ रतनपुर में जमीन
फेबियन खेस, कार्यपालन अभियंता पीडब्ल्यूडी, अंबिकापुर
नकद एक लाख 85 हजार, 1.60 करोड़ का नोवा नर्सिंग होम का मकान
बोइरदार रोड रायगढ़ में 3000 वर्ग फीट एमआईजी एचएन-5 मकान
डेढ़ करोड़ का बिजकोट में आठ एकड़ फार्म हाउस और पोल्ट्री फार्म, एक स्कार्पियो
गोवर्धन चक्रधन नगर में तीन लाख की जमीन, रायपुर अमलीडीह में मकान,
बोरसी दुर्ग में 30 लाख का प्लाट, लिंगियाडीह में 25 एकड़ और नारायपुर में पैतृक जमीन
उमाशंकर राम, कार्यपालन अभियंता जलसंसाधन, बैकुंठपुर
नकद तीन लाख 55 हजार, छह लाख के सोने-चांदी के गहने
60 लाख का शिवधारी कॉलोनी में दो मकान
कबीर नगर रायपुर हर्षित विहार में आईटी वर्ल्ड के नाम से शॉप
बेटे जयंत और आशुतोष के नाम 30-30 लाख का मकान
नेचर सिटी बिलासपुर में 40 लाख का मकान, राजपुर खजुरी में 50 एकड़ का फार्महाउस
एनके द्विवेदी, जिला शिक्षा अधिकारी रायगढ़
नकद 50 हजार, 40 लाख का राजस्व कॉलोनी में दो मंजिला मकान
शांति नगर अमेरी गार्डर, बिरकोना बिलासपुर में डेढ़ एकड़ में एक करोड़ का मकान
अनुकंपा नियुक्ति और शिक्षाकर्मी भर्ती में गड़बड़ी की शिकायत
आनंद पांडे, जिला परियोजना अधिकारी, जिला पंचायत बिलासपुर
जबड़ापारा सरकंडा में 60 लाख कीमत का दो मंजिला मकान
भाई के नाम पर स्कूल, कॉलेज और कोचिंग में निवेश, मिलन चौक, कुंदुदंड में द्रोणा किड्स स्कूल, सकरी और कानन पेंडारी के सामने दो एकड़ में द्रोणा महाविद्यालय, जिसमें 100 कमरे हैं।
10 मिनी और दो बड़ी बस, एक वैगनआर कार, दो टाटा मैजिक
ऋषभ कॉम्प्लेक्स में पांच दुकानें, जो किराए पर दी हैं।
अर्जुन लाल यादव, सहायक प्रबंधक, मार्कफेड, जांजगीर
नकद एक लाख 50 हजार, 30 लाख कीमत का दो मंजिला मकान
24 लाख कीमत के चार ट्रक और एक ट्रैक्टर
पांच लाख 30 हजार की बीमा पॉलिसी, पांच लाख के गहने, एक किलो चांदी
बेटे धनीराम, सरजू और राजाराम के नाम अकलतरा में 40 लाख की आठ एकड़ जमीन
अमरताल, तरोद में दो एकड़ जमीन पत्नी के नाम पर
मिथलेश पांडेय, पटवारी, रायपुर
एक लाख 75 हजार नकद, सात प्रॉपर्टी, एक करोड़ कीमत की तीन प्लॉट, अमलेश्वर में प्रॉपर्टी
दो बैंक लॉकर में 30 तोला सोना, सुंदरनगर में 60 लाख का और डंगनिया में 50 लाख का दो मंजिला मकान
10-15 जमीन में निवेश के दस्तावेज
जीआर देवांगन, उपयंत्री, जलसंसाधन विभाग, राजनांदगांव
नकद एक लाख, कातुलबोर्ड दुर्ग में स्वयं, पुत्र और पत्नी के नाम 50 लाख की जमीन
ममता नगर राजनांदगांव में 60 लाख का दो मंजिला मकान, गंडई लालपुर में जमीन
जिला सहकारी बैंक में एक लॉकर, एक रिट्ज कार, महादेव घाट रोड पर प्लॉट का एंग्रीमेंट
लालपुर छुईखदान में दो एकड़ 33 डिसमिल जमीन, टिकरीपारा वार्ड गंडई में मकान
शांतिलाल गुप्ता, एसडीओ, जलसंसाधन विभाग, बैकुंठपुर कोरिया
बाथरूम से 21 लाख रुपए नकद, 20 लाख कीमत के दो प्लॉट पत्नी के नाम पर
25 लाख का उज्जैन में मकान, आठ लाख कीमत का 1500 वर्गफुट का प्लॉट
स्टेट बैंक में लॉकर
दो पेट्रोल पंप के साथ करोड़ों का निवेश
सेवानिवृत्त खाद्य अधिकारी गुलाम मोहम्मद खान ने पत्नी और बेटी के नाम पर दो पेट्रोल पंप लिए हैं। खान दिसंबर 2015 में सेवानिवृत्त हुए। छापे में खान के पास से 25 लाख की कीमत का एक तीन मंजिला मकान, 21 लाख का बिलासपुर, साढ़े तीन लाख कीमत का बोपनी में प्लॉट मिला हैं। इसके साथ ही उमरिया में सात लाख और पीपरीनाका में दस लाख का प्लॉट, 17 लाख के दो मकान मिले हैं। उमरिया में कृषि भूमि, पत्नी के नाम पर डेढ़ एकड़ रतनपुर में जमीन के दस्तावेज भी मिले हैं।
कॉलेज में निवेश, 10 मिनी और दो बसें भी
जिला पंचायत बिलासपुर में जिला परियोजना अधिकारी, आनंद पांडे ने अपने भाई और परिवार के सदस्यों के नाम पर करोड़ों रुपए का निवेश किया है। इसमें भाई के नाम पर स्कूल, कॉलेज और कोचिंग में निवेश, मिलन चौक, कुंदुदंड में द्रोणा किड्स स्कूल, सकरी और कानन पेंडारी के सामने दो एकड़ में द्रोणा महाविद्यालय, जिसमें 100 कमरे हैं। जबड़ापारा सरकमंडर में 60 लाख कीमत के दो मंजिला मकान मिले हैं। एसीबी के छापे में 10 मिनी और दो बड़ी बस, एक वैगनआर कार, दो टाटा मैजिक के दस्तावेज भी मिले हैं। पांडे के नाम से ऋषभ कॉम्प्लेक्स में पांच दुकानें हैं, जो किराए पर दी है।
पटवारी के बेटे का मेडिकल कॉलेज में पेमेंट सीट पर एडमिशन
रायपुर में पदस्थ पटवारी मिथलेश पांडेय ने अपने बेटे का मेडिकल कॉलेज में पेमेंट सीट पर एडमिशन कराया था। बताया जा रहा है कि इसके लिए पांडे ने 40 लाख रुपए का भुगतान किया है। एसीबी की टीम सुबह छह बजे ही पांडे के घर पहुंची और पूरे घर को सील कर दिया। किसी भी सदस्य को बाहर निकलने नहीं दिया गया। पुलिस को घर के बाहर तैनात कर दिया गया। इनके घर से एक लाख 75 हजार नगद, सात प्रॉपर्टी, एक करोड़ कीमत की तीन प्रॉपर्टी वुडआईलैंड अमलेश्वर में मिली है। दो बैंक लॉकर में 30 तोला सोना, सुंदरनगर में 60 लाख का और डंगनिया में 50 लाख के दो मंजिला मकान हैं। इसके साथ ही करोड़ों रुपए की कीमत के 10-15 जमीनों में निवेश के दस्तावेज भी बरामद हुए हैं।
अफसर के बाथरूम से निकलते हैं लाखों के जेवर एवं नगदी 
जलसंसाधन विभाग, बैकुंठपुर, कोरिया के एसडीओ शांतिलाल गुप्ता के घर जब एसीबी की टीम पहुंची तो परिवार के एक सदस्य ने आनन-फानन में बाथरूम में 21 लाख रुपए नगद छिपा दिए। बाथरूम में पड़े कपड़ों की जब टीम ने जांच की तो नगद बरामद हुए। इसमें पांच-पांच सौ की ग़िड्डयां थी। 12 गड्डियों को एक रस्सी से बांधकर रखा गया था। आशंका जताई जा रही है कि यह पैसा किसी को देने के लिए एकत्र किया गया था। गुप्ता के घर से लाखों रुपए की कीमत के गहनों को बाहर फेंक दिया गया था, जिसे एसीबी की टीम ने बरामद किया। इसके साथ ही 25 लाख का उज्जैन में मकान, आठ लाख कीमत का 1500 वर्गफुट का प्लॉट और स्टेट बैंक में लॉकर बरादम हुआ है।

 

Hindi e-Paper
PUBLI CPOINT
PUBLICPOINT
More e-Papers ...
Important Links
You can Advertisment here
Bhopal Weather


Usage Statistics Generated by Webalizer Version 2.01

E-mail : contactus@publicpointnews.com, publicpointindia@gmail.com
Copyright © 2007-2015 Public Point News, All Rights Reserved.