Saturday, February 27, 2021 | होम | सम्पर्क करें | आपके सुझाव| हिन्दी मैग्जीन |
Bookmark and Share
समाचार
राष्ट्रीय
अन्तरराष्ट्रीय
सम्पादकीय
राजनीति
कारोबार
अपराध
खेल खिलाडी
मनोरंजन
साक्षात्कार
राज्य
मध्यप्रदेश
छत्तीसगढ
उत्तर प्रदेश
राजस्थान
गुजरात
दिल्ली
हरियाणा
बिहार
महाराष्ट्र
फोटो गैलेरी
Photo Gallery
अन्य
बॉलीवुड
शिक्षा
स्वास्थ्य
समाज
बाजार
ज्योतिष
धर्मं
महिला
युवा
बाल जगत
विशेष
जन आवाज
जानिये अपने विधायक को
जानिये अपने सांसद को
आरकाइव
एडमिन
ई - मेल
शिक्षा को सस्ता बनाने क्या निजी विद्यालयों पर अंकुश जरूरी है?
Yes   : 65 %
No     : 26 %
Can't : 9 %
Are you satisfied with your intranet system ?
पानी में डूबा पटना, बारिश से यूपी में अब तक 170 की मौत

 

पटना/नई दिल्ली मंगलवार 1 अक्टूबर 2019 । मानसून देर से मेहरबान हुआ लेकिन इतना ज्यादा हो गया कि अब पानी गले तक आ गया है। पिछले पांच दिनों से यूपी और बिहार में हो रही भारी बारिश से बिहार तो जैसे कोईं प्राचिन शहर बन गया है जो प्रलय के पानी में डूब गया हो। वहीं यूपी में पिछले पांच दिनों में 111 लोगों की मौत हो गई है जिसके बाद यह आंकड़ा 170 तक पहुंच गया है। इस साल देश पर मानसून इतना मेहरबान हुआ है कि पिछले 25 सालों का रिकॉर्ड तोड़ डाला। आमतौर पर 30 सितंबर को बिदा होने वाला मानसून 1961 के बाद पहली बार 10 अक्टूबर को बिदा होगा।
इस विदाई से पहली इसने इतनी तबाही मचा दी है कि उससे निपटते लंबा समय लगेगा। बिहार की तस्वीरें देखें तो भयानक नजर आती है। लोगों के घरों में कमर तक पानी घुसा हुआ है और राहत और बचाव की लागातर कोशिशों के बीच पानी उतरने का इंतजार हो रहा है। चारों तरफ पानी है लेकिन पीने के पानी को लोग तरस रहे हैं वहीं रोजमर्रा की चीजें भी नहीं मिल रही।
बिहार की बाढ़ में 16 लाख लोग फंसे
पटना समेत बिहार के अधिकांश हिस्सों में भले ही बारिश कम की रफ्तार कम हो गई हो लेकिन जो पानी भरा हुआ है उसकी वजह से लाखों लोग अब भी जलकैदी बने हुए हैं। बारिश से हर शख्त परेशान है। घरों में पानी भरने की वजह पटना में आफत की बारिश के चलते उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और लोकगायिका शारदा सिन्हा अपने घरों तक कैद रहे। सोमवार को राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीम ने दोनों को पानी में डूबे उनके घरों में से उन्हें निकाला।
बारिश की वजह से आई बाढ़ में पूरे बिहार में 16.56 लाख लोग घिरे हुए हैं। सबसे बुरी स्थिति पटना में है, जहां सोमवार को 11 हजार लोगों को जलकैद से मुक्त कराया गया। राज्य में वर्षा और जलजनित हादसों में अब तक 40 की जान गई है, जबकि रविवार से सोमवार तक 13 लोगों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को बाढ़ की स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक की और जलजमाव वाले क्षेत्रों से तेजी से पानी निकालने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया।
आज से कम होगा वर्षा का दौर
मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा के अनुसार गुजरात व महाराष्ट्र में बारिश का दौर मंगलवार से घटने लगेगा। 30 सितंबर को औपचारिक रूप से वर्षाकाल खत्म हो गया, लेकिन देश के कुछ हिस्सों में मानसून अब भी सक्रिय है। यह 10 अक्टूबर के आसपास से बिदा होगा।
इस साल 110 फीसदी हुई बारिश
मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 1994 के बाद इस बार देशभर में मानसून सामान्य से 110 फीसदी बरसा है, जो एक रिकॉर्ड है। इस साल देश के अधिकांश राज्यों में बाढ़ आई। 96-104 फीसदी बारिश का आंकड़ा सामान्य मानसून दर्शाता है। 2018 में देश में सामान्य से कम वर्षा हुई थी। बीते 19 मानसून सीजन में 18 में सामान्य से कम वर्षा हुई थी।


 

Hindi e-Paper
PUBLI CPOINT
PUBLICPOINT
More e-Papers ...
Important Links
You can Advertisment here
Bhopal Weather


Usage Statistics Generated by Webalizer Version 2.01

E-mail : contactus@publicpointnews.com, publicpointindia@gmail.com
Copyright © 2007-2015 Public Point News, All Rights Reserved.